कौशाम्बी: कडा़ थाना क्षेत्र के दौलतपुर कसार के मजरे सुल्तानपुर कसार में पचासों वर्ष से रामलीला का मंचन होता है। राम और रावण का युद्ध हुआ। दूसरे दिन अंतिम युद्ध हुआ। मैदान में राम की सेना केसरिया रंग का वस्त्र तथा रावण की सेना काले रंग का वस्त्र पहनकर रणभूमि में उतारते है। दोनों तरफ से गदा लेकर दोनों एक दूसरे पर प्रहार करते हैं। इस युद्ध में निर्णायक भी रहते हैं, जो एक-एक गतिविधियों को देखते रहते हैं। यह युद्ध देश में प्रसिद्ध है। सैकड़ो लोगो की संख्या ग्राम पंचायत के ही नहीं बल्कि अन्य ग्राम पंचायत के लोग इस युद्ध को देखने के लिए आते है। यह संघर्षपूर्ण युद्ध में आखिरकार राम ने रावण को अपने शक्ति बाण से धरासायी कर देते है। राम की सेना ने विजय प्राप्त की खुशी में पताका लहराई। कमेटी रामलीला के सभी अध्यक्ष गणमान्य व थाना क्षेत्र के चौकी इंचार्ज अपने पुलिस फोर्स बल के साथ पूरी तरह से मौजूद रहे। दर्शकों की भीड़ पूरी तरह से जमी रही। मेले में तरह-तरह की दुकानें सजी रही। जिसमे काफी संख्या में भीड़ देखने को मिली सभी दुकानों में जोरदार खरीददारी बनी रही। आए हुए लोग मेले का भी आनंद लिए। रामलीला मैदान व मेले में काफी चहल-पहल बनी रही।

रिपोर्टर – विकास कुमार गौतम /वजीम सलमानी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here