Home हमारा प्रदेश विद्यालय की विवादित भूमि बेंचने हेतु प्रबन्धक ने सत्ता पक्ष से मिलाया...

विद्यालय की विवादित भूमि बेंचने हेतु प्रबन्धक ने सत्ता पक्ष से मिलाया हाथ


फतेहपुर: महात्मा गांधी इंटर कॉलेज जोनिहां एक बार फिर से चर्चा का केंद्र बिंदु बन चुका है। विदित हो कि लगभग दो वर्ष पूर्व विद्यालय के प्रबंधक अनिल त्रिपाठी उसके भाई अखिलेश त्रिपाठी ने विद्यालय की बेशकीमती जमीन को अनुपयोगी दिखाते हुए विक्रय करने का कुचक्र रच कर जिला विद्यालय निरीक्षक शिक्षा निदेशक को तथ्यों को छुपाकर आदेश हासिल कर लिया था। समिति के अध्यक्ष ज्ञान निधान सिंह चौहान को जब यह जानकारी हुई तो उन्होंने जिला विद्यालय निरीक्षक व जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर जमीन न बेचे जाने का अनुरोध किया था। साथ ही कानूनी कार्रवाई करते हुए पत्राचार किया था। जिसका परिणाम था कि जमीन विक्रय करने के आदेश पर तत्काल प्रभाव से रोक लग गई थी लेकिन एक बार फिर विद्यालय के प्रबंधक रहे अनिल त्रिपाठी जमीन बेचने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। हाईकोर्ट में पड़ी अपील जिला विद्यालय निरीक्षक के विकृत होने के रोक के आदेश सभी को दरकिनार करते हुए हर हाल में जमीन बेचना चाहते हैं। ऐसी हालत में शिक्षा के मंदिर भू माफियाओं व धन लोलुपता के कारण विद्यालय प्रबंधक अनिल त्रिपाठी के कारण यह शिक्षा का मंदिर अपने अस्तित्व नष्ट होने का खुद गवाह बन रहा है। समिति के अध्यक्ष ज्ञान निधान सिंह का कहना है कि हर संभव कानूनी कार्यवाही की जाएगी। विद्यालय की जमीन किसी हाल में बिकने नहीं दिया जाएगा।   विश्वस्त सूत्रों की माने तो ऐसे में भू माफियाओं व प्रबंधक अनिल त्रिपाठी के पक्ष में बेशकीमती जमीन की बिक्री कर पैसों का हिस्सा बाट के लिए सत्ता पक्ष के कुछ दिग्गज संगठन और सरकार से जुड़े लोग खड़े हो गए हैं। जो लगातार प्रशासनिक अधिकारियों पर दबाव बना रहे है।ं सूत्र का दावा है कि जरूरत पड़ने पर सभी को बेनकाब किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read