कौशाम्बी: जिलापूर्ति अधिकारी सीमा सिंह ने बताया है कि शुक्रवार को जनपद के समस्त उचित दर विक्रेताओं द्वारा अपनी उचित दर दुकानों पर नोडल अधिकारी की उपस्थिति में खाद्यान्न वितरण का कार्य शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुरूप किया जा रहा है उन्होने बताया है कि शुक्रवार को 3 बजे तक उचित दर विक्रेताओ द्वारा 8735 कार्डो पर ,खाद्यान्न का वितरण किया जा चुका है। उक्त में से 2287 अन्त्योदय श्रेणी के लाभार्थियों को एंव पात्र गृहस्थी के 1318 मनरेगा जॉब कार्ड धारक/ पंजीकृत श्रमिक/दिहाडी मजदूरों को निःशुल्क खाद्यान्न का वितरण किया जा चुका है। उन्होने यह भी बताया है कि खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा कोरोना महामारी की विषम परिस्थियों में लाक्डाउन से प्रभावित श्रमिकों, दैनिक मजदूरों तथा अन्य राज्यों में प्रवासी उत्तर प्रदेश के निवासियों की विशेष सुविधा हेतु भारत सरकार की योजना के तहत राष्ट्रीय राशन पोर्टबिलिटी की शुरुआत 1 मई से की जा रही है।
1) इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश का कोई लाभार्थी अन्य राज्य से तथा अन्य राज्य का कोई भी लाभार्थी उत्तर प्रदेश से, योजना के तहत बने किसी भी राशन कार्ड की राशनकार्ड संख्या मात्र बताकर राशन ले सकता है। यह सुविधा आधार आधारित वितरण एवं पिछले 6 माह से सक्रिय राशन कार्डों पर ही होगी।फिलहाल उत्तर प्रदेश सहित 16 राज्य (आंध्र प्रदेश, गोवा, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, केरल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, तेलंगाना, त्रिपुरा, बिहार, पंजाब, हिमाचल प्रदेश) तथा केंद्रशासित प्रदेश दादरा नगर हवेली के लाभार्थी आपस में राशन पोर्टबिलिटी का लाभ उठा सकेंगे। प्रवासी मजदूरों को इस योजना का विशेष लाभ मिलेगा।
2) 1 मई से सामान्य वितरण साइकल में गेहूँ और चावल दोनों वितरित होगा। अंतयोदय कार्डधारकों, श्रमिकों/मजदूरों हेतु वितरण निशुल्क होगा।
3) दिनांक 15 तारीख से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अन्तर्गत निशुल्क वितरण शुरू किया गया जाएगा जिसमें सभी कार्डधारकों को उनके राशन कार्ड में दर्ज सदस्यों के आधार पर प्रति व्यक्ति 5 किलो चावल निःशुल्क दिया जाएगा।
4) कोई भी लाभार्थी केवल अपना राशन कार्ड संख्या बताकर किसी भी उचित दर दुकान से राशन ले सकता है।

रिपोर्टर – प्रियंका यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here